Ticker

6/recent/ticker-posts

COMPUTER IN HINDI 2021

आज के पोस्ट का विषय है कंप्यूटर ,जिसके बारे में लगभग सभी लोग जानते होंगे या जानना चाहते होंगे। इस पोस्ट में कंप्यूटर क्या है ?what is the computer in hindi,what is a computer in hindiपर जानकारी देंगे। 

 

कंप्यूटर क्या है ?




कंप्यूटर एक प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो गणना कर सकती है और दिए हुए जानकारी को संग्रहीत करने में सक्षम है।कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक उपकरण है जो सूचना या डेटा की यूजर के जरुरत के हिसाब से जानकारी देता है।इसमें डेटा को संग्रहीत करने, पुनर्प्राप्त करने और सुधार करने की क्षमता है।आप पहले से ही जानते हैं कि आप Data को टाइप करना ,EMAIL भेजना ,Game खेलना औरWEB BROWSE करने के लिए कंप्यूटर का उपयोग करते हैं। आप spreadsheets बनाने और यहां तक कि किसी वीडियो को बनाने या उसमे सुधार करने के लिए भी कंप्यूटर का उपयोग करते हैं।

कंप्यूटर यह शब्द लेटिन भाषा के "Computatrum" से लिया गया जिसका मतलब गणना करना होता है।Computer  के  System में Data Store करने के लिए क्षमता बहुत ही अधिक होती है  जिससे Computer अनेक  शब्दों को बहुत कम जगह में Store कर पाता  है  जिसमे सब प्रकार के  डाटा ,इमेज , सेटअप फाइल ,अनेको सॉफ्टवेयर , बहुत सारे गेम  और सूने लायक म्यूजिक  को कई बर्षो तक अपने  StorAGE  में स्टोर करके रख सकता है जब हमें किसी भी सूचना को जानना होता है तो  कुछ ही सेकण्ड में प्राप्त कर पाते है और  अपने इस्तेमाल में ला सकते है|अगर हम मनुष्य किसी भी काम को लगातार करे तो धिरे धिरे हमारी छमता कम होती जाती है ,और एक समय ऐसा आता है जब हमारे शरीर को आराम की जरूरत होती है , लेकिन जब हम कंप्यूटर के विषय में बात करे तो तो इसमें ऐसा कुछ  नहीं होता है ,ये लगातार इस्तेमाल किया जा सकता है उससे उसके काम करने की क्षमता में न तो कोई कमी आती है और न ही उसके द्वारा किये हुए कार्य  के परिणाम की शुद्धता मे  जरा भी कमी आती हैं| यह दिए हुआ कार्य  को बिना किसी पक्छपात  के करता है ,चाहे वो काम उसके महत्त्व का हो या ना हो। कंप्यूटर खुद से कोई भी गलती नहीं करता है इसके गलती करने का कारण गलत डाटा ENTRY  होता है।  

कंप्यूटर कार्य कैसे करता है ?

कंप्यूटर के कार्य मुख्य रूप से तीन भाग में होता है। जिनके कारण कंप्यूटर कार्य करता है। 

        

इसके पहले भाग जिसे INPUT DATA कहा जाता है इसमें किसी RAW सूचना को इनपुट डिवाइस के माध्यम से कंप्यूटर मे वो डाटा को डाला जाता है। इसके बाद उस इनपुट डाटा को यूजर के निर्देश के अनुसार  उस  DATA को PROCESS करना होता है।यह पूरी तरह से इंटरनल प्रोसेस होता है।इसमें  PROCESS हुआ डाटा के रिजल्ट के तौर पर  डिस्प्ले किया जाता है ,अगर हम उस रिजल्ट को कम्प्यूटर के स्टोरेज में सेव कर लेते है तो उस रिजल्ट को हम भविष्य में भी,हम उसको देख सकते है।   

कंप्यूटर का फुल फॉर्म 

कंप्यूटर का फुल फॉर्म  नीचे दिया गया है। 
  • C= Common 
  • O= Oriented 
  • M= Machine 
  • P= Particularly 
  • U= United and used under 
  • T= Technical and 
  • E= Educational 
  • R= Research

किसी कंप्यूटर को सही से काम करने के लिए हार्डवेयर  सॉफ्टवेयर दोनों की आवश्कता होती है। कंप्यूटरों हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर का मिश्रण होता है।हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों का सामान और अपना अलग महत्त्व होता है ,दोनों आपस में मिल कर कार्य करते है।बिना हार्डवेयर के  सॉफ्टवेयर किसी काम का नहीं ,ठीक उसी तरह बिना  सॉफ्टवेयर के हार्डवेयर किसी काम का नहीं होता है। कंप्यूटर के हार्डवेयर को कैसे कार्य करना होगा इसकी सारी जानकारी सॉफ्टवेयर में होती है। कंप्यूटर के CPU से सारे हार्डवेयर आपस में जुड़े होते है जिनसे काम करवाना सॉफ्टवेयर (यहां OS सॉफ्टवेयर है )के माध्यम से होता है। 
 

Hardware 

कंप्यूटर का वो  हिस्सा होता है जिसमें एक भौतिक संरचना होती  है, जैसे कि कीबोर्ड या माउस।इसमें कंप्यूटर के सभी आंतरिक भाग भी शामिल होते  है।



इसे भी पढ़े 




Software

सॉफ्टवेयर कंप्यूटर के निर्देशों का एक सेट होता है जो हार्डवेयर को बताता है उसे क्या करना है क्या नहीं ,जो करना है वो कैसे करना है।सॉफ्टवेयर के उदाहरणों में WEB BROWSE, GAME और OS शामिल हैं।


आशा करता हु आपको ये पोस्ट पसन्द आया होगा।कृपया करके मेरे इस पोस्ट को शेयर करे और फॉलो करे इंस्टाग्राम पर।  


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां