Ticker

6/recent/ticker-posts

10 फायदे Methi खाने के , नुकसान और उपयोग जानिए। Information of Fenugreek (मेथी) in Hindi

मेथी जिसे इंग्लिश में Fenugreek कहते है। मेथी जितना ही अधिक लाभकारी होता है उतना ही खाने में स्वादिष्ट भी होता है।मेथी का इस्तेमाल कई सालो से औषद्यी और कॉस्मेटिक उत्पाद बनाने के लिए किया जाता है।आज के समय में भी भारत में मेथी के पराठे ,मेथी के लडू ,बड़े लगाव के साथ लोग खाते है। 

आज के पोस्ट के माध्यम से  Fenugreek in Hindi और उससे जुडी जानकारी देने का प्रयास करूँगा। कृपया करके इस पोस्ट को पूरा पढ़े और पूरी जानकारी प्राप्त करे।

 





मेथी के पत्ते में आयरन ,प्रोटीन ,फास्फोरस ,कैल्शियम ,विटामिन K प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। जिसके कारण इसका सेवन करना बहुत ही अधिक लाभकारी होता है।मेथी में बहुत से विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते है।

 

मेथी जिसका वैज्ञानिक नाम ट्रिगोनेला फोनीम ग्रीकं होता है। इसके खेती करने के लिए जरूरत के अनुसार  धूप और उपजाऊ मिट्टी की बहुत आवश्यकता होती है।इसी कारण से भारत विश्व में मेथी के सबसे बड़े उत्पादक देशो में से एक है। मेथी के पत्तों का उपयोग सब्जी बनाने के लिए भी  किया जाता है।मेथी के बीज से मसाला और दवाईयां तैयार की जाती हैं। 

आज के पोस्ट से मेथी के फायदे और नुकसान इसके उपयोग करने से जुडी तमाम बातो पर जानकारी मिलेगा। 



मेथी में पाए जाने वाले पोषक तत्व 

मेथी के अंदर पाए जाने  पोषक तत्व के विवरण नीचे दिया गया है। इन्ही पोषक तत्व के कारण इसका उपयोग लाभकारी होता है। 



मेथी के प्रकार 


मेथी मुख्य रूप से दो तरह का होता है। वन मेथी जो की जानवर सेवन करते है क्योकि इसके अंदर कोई ऐसा तत्व नहीं पाए जाते जो मनुष्य के लिए लाभदायक हो। दूसरा मेथी जिसका इंग्लिश नाम FENUGREEK होता है। जो मानव  के इस्तेमाल के लिए बेहतर और उपयोगी होता है। 


Health Benefit Of Fenugreek (मेथी के फायदे)


  • जिन महिलाओं को प्रसव के बाद दूध नहीं आता वे अपने नवजात बच्चे को बहार  का दूध देती है जो की शिशु के सेहत के लिए लाभप्रद नहीं होता है।मेथी जो की गैलेक्टोगॉग्स का एक बेहतरीन शोत्र होता है।इसके सेवन करने से महिलाओं में दूध का उत्पादन आसानी से बढ़ जाता है। इसके अलावा मेथी के अंदर अन्य कई गुण पाए जाते हैं, यह गुण दूध की गुणवत्ता में भी सुधार करता है। 

  • आपने भी ऐसे बहुत से लोगो को कहते सुना होगा की यार अब भूख नहीं लगती है। शरीर को उचित मात्रा में जरुरी तत्व नहीं मिलने से शरीर कमजोर होने लगता है। कमजोर शरीर आसानी से बीमार हो सकता है। भूख न लगने वाले लोग अगर मेथी के पत्ते को सलाद के रूप इस्तेमाल करे तो उन्हें भूख लगने लगेगी। 

  • जिन लोगो को गठिया की बीमारी होती है।उन लोगो के जोड़ों में बहुत ही खतरनाक दर्द होता है।इस दर्द की वजह से वह ना तो चल पाते हैं ना ही कोई बल का काम कर पाते हैं। आपको बता दें कि मेथी के अंदर आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस पाया जाता है, जो हड्डियों के लिए फायदेमंद होता है।गठिया के दर्द से परेशान व्यक्ति मेथी का उपयोग कर सकते हैं।


  • अगर आप रोजाना रात के समय मेथी के दानों को भिगोकर छोड़ दे। अगली सुबह उठकर बीजों को चबा कर खा ले और पानी को पी लें। इसका इस तरह से इस्तेमाल करने से मधुमेह से परेशान लोगो को राहत मिलेगा।

  • अगर आप मेथी का नियमित इस्तेमाल करते है। जिसके प्रभाव से आपका हृदय तंदुरुस्त रहेगा।आप एक से दो कप पानी के अंदर मेथी डालें और इसे पांच मिनट तक उबालें।इस तरह से सेवन करने से हृदय  के लिए लाभप्रद साबित होगा। 

  • आज के समय में बहुत से लोग कब्ज जैसी समस्या से परेशान है। कब्ज जो की शरीर में बवासीर तक का कारण तक बन जाती है।कब्ज की समस्या से पीड़ित लोग का पेट अक्सर भारी भारी रहता है। इसके साथ ही पेट दर्द और पेट के अंदर अन्य समस्याएं भी कब्ज के कारण ही पैदा होती हैं। कब्ज का अंत करने में मेथी खाने के फायदे देखेने को मिले है।आपको यह बात ना पता हो कि मेथी के अंदर घुलनशील फाइबर होता है, जो आपकी पेट की समस्याओं से लड़ने में मदद करता है। इसके साथ ही यह आंत की जलन, सूजन को कम करने में भी कारगर होता है।रात में सोने से पहले मेथी के पाउडर को गर्म पानी के साथ सेवन करने से कब्ज की समश्या से राहत मिलेगी। 
 
  • अगर आप मेथी के दानों को पहले अच्छी तरह से भून लें।इसके बाद इसे पीस कर या गर्म पानी में डालकर पी जाएं।मेथी के इस तरह से इस्तेमाल करने से बेकार के खान पान के कारण शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है।मेथी में पाए जाने तत्व में से नारिंगेनिन नाम का एक फ्लेवोनॉयड पाया जाता है।जो की बैड कोलेस्ट्रॉल के मात्रा को कम करने का कार्य करता है।मालूम नहीं आपको पता है या नहीं कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होने से दिल का दौरा पड़ने की संभावनाएं बढ़ जाती है। 



  • आज बहुत से लोग पाचन से जुड़ी समस्याओं से परेशान रहते हैं। इस तरह की समस्या के कारण वह अक्सर ही भारी भारी महसूस करते हैं। लेकिन इस समस्या का अंत भी आप मेथी के जरिए कर सकते हैं। दरअसल इसके अंदर घुलनशील फाइबर होता है जो आपकी पाचन क्रिया को बेहतर करने का कार्य करता है। इसके लिए आप रोज मेथी के दानों को पीस कर पानी के साथ पीएं।आपको इस तरह से इस्तेमाल करने से आपके पाचन तंत्र को जरूर लाभ मिलेगा। 

  • कान के दर्द या कान का बहना अक्सर आपको बेहद परेशान कर देता है। लेकिन मेथी के जरिए इससे भी छुटकारा पाया जा सकता है। इसके लिए आपको केवल थोड़े से दूध के अंदर मेथी के दानों को पीस कर मिलाना है। इसके बाद इसे छानकर गर्म करना है। अब इसकी एक से दो बूंद कान के अंदर डाल लें। इससे कान का बहना बंद हो जाएगा।


  •  बहुत से लोग जो की बढ़ते वजन  के कारण परेशान है।आज भी बढ़ता वजन उन लाखों लोगों के लिए चिंता का विषय बना हुआ है।बढ़ते वजन की वजह से ही कई बीमारियां तक घेर लेती हैं। पर वजन कम करने के लिए मेथी लाभदायक है। मेथी के अंदर पाया जाने वाला फाइबर और अन्य गुण वजन कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं। इसके लिए आपको केवल सुबह के समय खाली पेट गर्म पानी के अंदर मेथी पाउडर का उपयोग करना होगा। इसे पीकर आपका वजन तेजी से कम होने लगता है।

मेथी के इस्तेमाल करने के तरीके 


  1. मेथी का उपयोग आप चाय के रूप में कर सकते हैं। इससे आपको वजन कम करने में भी मदद मिलेगी।
  2. मेथी की पत्तियों के पराठों का सेवन भी आप कर सकते हैं। इससे आप मेथी के संपूर्ण गुणों का लाभ ले पाएंगे।
  3. आप चाहें तो मेथी के दानों को अंकुरित करके भी खा सकते हैं। इसके लिए आपको केवल मेथी के दानों को भिगोकर रखना होगा। 7-8 घंटे बाद मेथी के भीगे हुए दानों को एक गीले कपड़े में लपेट कर रख दें। कुछ देर बाद यह अंकुरित होने लगेंगे।
  4. आप मेथी का सूप भी बनाकर पी सकते हैं।
  5. मेथी की तासीर गर्म होती है इसलिए इसे पहले भिगोकर रखें और फिर इसका सेवन करें।
  6. आप वजन कम करने के लिए सुबह खाली पेट ही मेथी का सेवन करें।


मेथी से होने वाले नुकसान 


  • अगर आप मेथी का अधिक मात्रा में सेवन करते हैं तो यह आपके पेट में गड़ बड़ कर सकती है। ऐसा इसलिए क्योंकि यह गर्म होती है।
  • मेथी के अधिक सेवन से आपको दस्त और उबकन की समस्या हो सकती है।
  • गर्भावस्था में महिलाएं केवल डॉक्टर की सलाह पर ही मेथी का सेवन करें।
  • मेथी के अधिक सेवन से स्किन पर चकत्ते आ सकते हैं, या एलर्जी की समस्या भी हो सकती है।
  • मेथी के अधिक सेवन से आपको पेशाब करने में दिक्कत आ सकती है।
  • अगर आप मेथी का अधिक सेवन करते हैं तो इससे सीने में जलन, सूजन जैसी समस्याएं भी पैदा हो सकती हैं।



अक्सर पूछे जाने वाले सवाल 

  1. क्या मेथी में प्रोटीन होता है?

    हां, मेथी के अंदर प्रोटीन की कुछ मात्रा पाई जाती है।

  2. क्या मेथी एक अनाज है?

    नहीं, मेथी अनाज नहीं बल्कि एक सब्जी है। इसके पत्तों के जरिए सब्जी बनाई जाती है और मेथी के दानों को मसालों के रूप में भी किया जाता है।

  3. मेथी कितने दिन में होती है?

    मेथी का पौधा 25 से 30 दिनों में ठीक ठाक बढ़ा हो जाता है।



निष्कर्ष 

आशा करता हु अपने इस पोस्ट को पूरा पढ़ के जाना Information of  Fenugreek (मेथी)  in Hindi के विषय में। उसका उपयोग करने के तरीका और होने वाले नुकसान के बारे में भी पढ़े। उम्मीद है की ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी। 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां