Olive oil kya hai । जैतून के तेल के फायदे

Information About Olive Oil in Hindi 

आज के दिनों में  हाल में ही हम सभी ने ऑलिव ऑयल यानी Zaitoon/Jaitun के तेल के फायदे और उसके उपयोग के बारे में  सुना होगा। जैतून के तेल के लाभ ही लाभ देखने को मिलते हैं। आज के समय में हृदय का ध्यान रखने के लिए हमें कड़ी मेहनत करनी पड़ती है ,इस तेल उपयोग के लाभ न केवल हृदय के ख्याल रखने में भी है  इसके साथ ही Jaitoon का उपयोग बहुत से ब्यूटी उत्पादों में भी किया जाता है। 

अगर आप केवल ऐसा सोच रहे की जैतून का तेल ही उपयोग में लाया जाता है तो आपके जानकारी के लिए बता दे जैतून के फल, पत्ते, जड़ आदि का उपयोग भी दुनियाभर में कई तरह की बीमारियों में किया जाता है।जैतून के तेल के फायदे, नुकसान और उपयोग से जुड़ी किसी प्रकार की जानकारी जानना चाहते हैं तो  हम आपको अपने इस लेख में ऑलिव ऑयल से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी देंगे। पूरी जानकारी हासिल करने के लिए अंत तक बने रहें। 





OLIVE OIL MEANING IN HINDI 



OLIVE OIL MEANING IN HINDI







Olive oil जिसका मतलब हिंदी में जैतून का तेल होता है। Jaitun Ka Tel, जैतून के फल से निकाला जाता है। जैतून का पेड़ लगभग 15 मीटर तक लंबा होता है। जैतून के पत्ते दिखने में अमरूद के पत्तों की तरह ही होते हैं। जैतून के तेल नन्हे शिशुओं की मालिश के काम भी आता है।जैतून के तेल से बनाया जाने वाला भोजन बहुत  स्वास्थ के लिए लाभदायक होता है। जैतून के तेल के उपयोग करने से भोजन के स्वाद को भी बढ़ जाता हैं।जैतून के अंदर बहुत से विटामिन्स मिनरल्स और अन्य पोषक तत्व पाए जाते हैं। जैतून के  फल अक्टूबर माह से लेकर अप्रैल माह तक होते है। 

जैतून के तेल में पाए जाने वाले पोषक तत्व 


       Olive Oil in Hindi




जैतून के तेल में बहुत से ऐसे पोषक तत्व पाए जाते हैं जो की दूसरे किसी भी ऑयल में नहीं मिलते।जैतून  के तेल में पर सैचुरेटेड फैट, मोनोसैचुरेटेड फैट, पॉलीअनसैचुरेटेड फैट, सोडियम, पोटेशियम, विटामिन के, विटामिन ई और विटामिन ए पाई जाती है। इसके साथ ही जैतून के तेल के अंदर 0 प्रतिशत कोलेस्ट्रॉल मौजूद होता है।इसके सेवन से आपका कोलेस्ट्रॉल लेवल पूरी तरह संतुलित रहता है। 

कुछ विशेष जानकारी जैतून तेल की 

  1. जैतून के तेल के साथ ही इसके फल, पत्ते और जड़ों का उपयोग भी दुनियाभर में किया जाता है। 
  2. जैतून के तेल जिसकी तासीर ठंडी होती है। इसलिए जैतून के तेल से मालिश गर्मियों में की जाती है। 
  3. जैतून के पेड़ की ऊंचाई 15 मीटर तक की होती है। 
  4. जैतून जिसमे  आयरन, कैल्शियम जैसे पोषक तत्व भी पाए जाते हैं। 
  5. जैतून का इस्तेमाल केवल तेल बनाने के लिए ही नहीं, बल्कि बहुत से कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में भी इसका उपयोग किया जाता है। 
  6. जैतून के तेल के उपयोग से बहुत सी औषधियां भी तैयार की जाती हैं। 


जैतून के तेल के कई प्रकार होते हैं

जैतून के तेल के कई प्रकार होते हैं। जैतून से तैयार किए गए हर तेल की अपनी अलग ही खासियत होती है। इसका उपयोग भी इसके प्रकार पर ही  निर्भर करता है।

वर्जिन ऑलिव ऑयल


इस तेल का मुख्य रूप से उपयोग भोजन पकाने के लिए किया जाता है।इसमें  किसी भी तरह का केमिकल की मात्रा नहीं होती है ।  


एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल


इस ऑलिव ऑयल की सबसे ज्यादा प्योर फॉर्म मानी जाती है।इस तेल में  कई तरह के एंटीऑक्सीडेंट गुण और मिनरल्स भी पाए जाते हैं। इसके अंदर एसिड की मात्रा बेहद कम होती है।जिस कारण से खाना बनाते समय यह जल जाता है। इसलिए भोजन में उपयोग करते समय इसका उपयोग बहुत ज्यादा सावधानी पूर्वक करना चाहिए। 


पोमेस ग्रेट ऑलिव ऑयल

इस तेल का उपयोग भोजन के अंदर नहीं होता है ऐसा इसलिए क्योंकि इसके अंदर स्मोकिंग प्वाइंट बेहद अधिक होता है। 

लैम्पेंट ऑलिव ऑयल

यह ऑलिव ऑयल को व्यक्ति ना तो अपने खाने में उपयोग कर सकता है और ना ही अपनी स्किन या बालों पर उपयोग होता है।इसका उपयोग केवल मशीनों या तकनीकी चीजों पर ही किया जाता है। 

प्योर ऑलिव ऑयल


इस जैतून तेल को रिफाइंड तेल और एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल के मिश्रण से ही तैयार किया जाता है। इसका उपयोग खाने में भी किया जाता है। 


ऑलिव ऑयल का उपयोग 

कुछ समय पहले तक जैतून के तेल का खाने में इस्तेमाल नहीं होता था ,या यु कहे तो बहुत कम होता था। लेकिन समय के साथ ही जैतून तेल का इस्तेमाल खाने के भी होने लगा। कुछ फायदे जैतून के तेल के इस्तेमाल के इस पोस्ट में बतायेगे। 


डायबिटीज जैसी बीमारी


बहुत से लोग डायबटीज़ जैसे बीमारी से परेशान है बहुत से लोगो में इसके होने के लक्षण दिखने लगते है। अगर डायबिटीज जैसी बीमारी किसी व्यक्ति को हो जाए तो जिंदगी भर के लिए दवाइयों का सेवन करते हुए भी परहेज अलग से।ऑलिव ऑयल से बनी चीजों के सेवन से रक्त शर्करा नियंत्रित रहती है।जो की डायबटीज़ के मरीजों के लिए फायदेमंद होता है। 



वजन कम करने में 


बेहद ख़राब खान पान के कारण मोटापा बहुत तेज़ी से बढ़ता है , फिर वजन कम करना एक सपना जैसे हो जाता है। बढ़ते वजन से परेशान लोगो को जैतून के तेल से बने खाने का इस्तेमाल करना चाहिए जो उनके बढ़ते वजन को काबू रखने में मदद करेगा। 


कब्ज की समस्या 


बहुत से लोग जोअक्सर कब्ज की समस्या से परेशान होते है।इस समस्या होने के कई कारण हो सकते हैं।जैसे पर्याप्त मात्रा में फाइबर युक्त पदार्थों का सेवन ना करना, अधिक चटपटा और मसालेदार भोजन करना।आपको भी कब्ज की समस्या है तो आप Jaitun Ka Tel उपयोग कर सकते है। इसके अंदर ऐसे बहुत से गुण ऐसे होते हैं जो आपको कब्ज से राहत दिला सकते हैं। 


बड़े बुजुर्गों को अक्सर सूजन की समस्या


बहुत से घरों में बड़े बुजुर्गों को अक्सर सूजन की समस्या होती है।इस कारण से उन्हें चलने फिरने या रोजाना के साधारण काम करने में भी बहुत परेशानी होती है।इस समस्या में जैतून के तेल के फायदे हो सकते है।जैतून के तेल के अंदर ओलियोकैंथोल होता है जो की एक एंटीफ्लेमेटेरी के गुण  है।यह बिलकुल वैसे ही काम करता है जैसे सूजन की दवा काम करती है । आप रोजाना ऑलिव ऑयल का उपयोग करते हैं तो आपकी सूजन की समस्या धिरे धिरे  खत्म हो जाएगी। 

दिमागी बीमारी से पीड़ि


हमारे आस पास बहुत से लोग हैं जो अल्जाइमर जैसी दिमागी बीमारी से पीड़ित हैं। इस बीमारी से पीड़ित व्यक्ति को धीरे धीरे अपने आस पास वाले लोगों और चीजों को भूलने की आदत हो जाती है।यह समस्या ज्यादातर बड़े उम्र के लोगों को ही होती है। लेकिन इस समस्या से बचे रहने के लिए आप जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं। आपको बता दें कि जैतून के तेल के अंदर पॉलीफेनोल होते हैं जो की एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करते हैं । जिससे आपकी याददाश्त बहुत बेहतर रहती है। 

 हाई बीपी की समस्या

हाई बीपी की समस्या जिसके कारण आज के समय में करोड़ों लोग पीड़ित हैं।आज के समय में बहुत लोग को हाई बीपी की दिक्कत बहुत कम उम्र के अंदर ही हो जाती है। जिस कारण से दिल का दौरा भी पड़ने की सम्भावना होती है।आपको भी यह समस्या होती है तो आप जैतून के तेल का सेवन कर सकते हैं।इसके अंदर ऐसे बहुत से  गुण होते हैं जो उच्च रक्तचाप को सही करने का कार्य करते हैं।


स्किन पर होने वाले लाभ जैतून के 


1.अगर आप भी स्किन पर नेचुरल ग्लो चाहते हैं तो आप डाइट में जैतून का तेल उपयोग करना शुरू कर सकते है। जिस कारण आपकी स्किन गोरी और चमकदार हो जाएगी।

2.आप भी शायद स्किन को मॉइस्चराइज करने के लिए ऑलिव ऑयल लगाकर आप अपनी स्किन को मॉइस्चराइज कर सकते हैं। 
बहुत से लोगो को बढ़ती उम्र के कारण चेहरे पर झुर्रियों की समस्या होने लगती है ,जैतून का तेल, और नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर मसाज करने से, झुर्रियां कम होने लगती हैं। 

3.पिंपल की समस्या जो की आजकल बहुत ज्यादा लोगो को होने लगी है। जिस कारण से चेहरे की चमक भी फीकी पड़ने लगती है और कई बार यह दाग भी छोड़ कर चले जाते हैं। ऐसे में पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए जैतून का तेल उपयोग सकते हैं।आपको दही, जैतून तेल और शहद का मिश्रण तैयार कर प्रभावित जगह पर लगाना है। इससे आपकी पिंपल्स की समस्या जल्द ही समाप्त हो जाएगी। 

4.आज के समय में बहुत से लोग लिप बाल्म का उपयोग करते है।मौसम के बदलाव  के साथ लिप्स फिर से सूखने लगते होंगे। सूखे लिप्स आपकी पर्सनालिटी को खराब कर देते हैं। आप अगर अपने होठों पर जैतून का तेल नियमित रूप से लगाते हैं तो इससे आपके लिप्स गुलाबी और मुलायम हो जाते हैं।

5.धूप और प्रदूषण के चलते अक्सर चेहरे की रंगत खराब हो जाती है, स्किन अजीब डल लगने लगती है।ऑलिव ऑयल का उपयोग करके चेहरे को गोरा और चमकदार बनाया जा सकता है।


बालो में लगाने से होने वाले लाभ 


  •  बालों की चंपी अगर ऑलिव ऑयल से किया जाये तो अधिक फायदेमंद होता है।जैतून के तेल की मालिश सिर पर करते हैं तो इससे आपके बाल स्वस्थ रहते हैं। 

  • बहुत से ऐसे लोग है जिनके बालों की ग्रोथ बेहद धीरे होता है ,जैतून का तेल का इस्तेमाल उपयोगी सिद्ध हो सकता है।  जैतून के तेल के साथ ही शहद और अंटे का पेस्ट तैयार करके अपने स्कैल्प पर लगाना है। इससे इस्तेमाल से आपकी बालों की ग्रोथ तेजी से होने लगेगी। 

  • बहुत से ऐसे लोग जो डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए अब तक कुछ ना कुछ आजमा चुके हैं।इससे छुटकारा पाने के लिए आपको एक व्हाइट ऐग, जैतून तेल लेना है। इसके बाद इसका मिश्रण बनाए और अपने बालों पर लगाकर छोड़ दे। इसके बाद शैम्पू से बाल धो ले।धीरे धीरे  यह समस्या खत्म हो जाएगी। 



कुछ अन्य फायदे जैतून के 



  1. बहुत लोग के पसीना की बदबू बेहद ख़राब होती है वैसे लोग पसीने की बदबू से राहत पाने के लिए   जैतून के पत्तों का पाउडर बनाकर शरीर पर मले। इससे धिरे धिरे बदबू आनी बंद हो जाएगी।
  2. कहि चोट लगने पर जैतून के तेल को घाव पर लगाने से घाव जल्दी भर जाता है। 
  3. जैतून के बीज से बना तेल लगाने से जोड़ों के दर्द या गठिया के दर्द से राहत मिलती है।




जैतून के पत्ते ,जड़ के इस्तेमाल के फायदे 


  1. पेशाब में होने वाली जलन को कम करने के लिए जैतून के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीना चाहिए। 
  2. सर्दी खांसी से छुटकारा पाने कि ले आप जैतून के तेल का उपयोग कर सकते हैं। 
  3. दांत या दाढ़ का दर्द ठीक करने में जैतून के इस्तेमाल कर  सकते है। 
  4. कान के दर्द से राहत पाने का आसान उपाय है जैतून का तेल।

कुछ सवाल जो हमेशा पूछे जाते है 


  1. जैतून के तेल की तासीर कैसी होती है?

    इसकी तासीर ठंडी होती है।

  2. क्या जैतून के पेड़ के पत्ते भी उपयोगी होते हैं?

    जी हां, इसके पत्ते से बना पाउडर पसीने की बदबू दूर कर सकता है।

  3. क्या जोड़ो के दर्द में जैतून की जड़ काम आती है?

    जी हां, अगर आपको जोड़ो का दर्द है तो आप जैतून की जड़ का उपयोग कर सकते हैं।

  4. क्या वजन घटाने में जैतून का तेल उपयोग करना ठीक है?

    जी हां, वजन घटाने के लिए जैतून का उपयोग करना कारगर होता है।



निष्कर्ष 


हमने अपने इस लेख में आपको Olive Oil Meaning in Hindi बता दिया है। साथ ही आपको जैतून के तेल के फायदे के बारे में बताया आशा करते है पोस्ट पसंद आएगा। 





यह भी पढ़ें


एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.

buttons=(Accept !) days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !