8 फायदे तुलसी के जरूर जाने । Benefits of Tulsi

आज के पोस्ट का विषय है  BESIL BENFIT IN HINDI ,TULSI KE FAYDE IN HINDI के विषय में कृपया करके पूरा पोस्ट पढ़े और पूरी जानकारी प्राप्त करे। 




तुलसी को जीवन का अमृत कहा  जाता है ,यह जड़ी बूटी की रानी भी कहलाती है।तुलसी तीन तरह की होती है ,वन तुलसी,रमा तुलसी और कृष्ण तुलसी।हमारे देश में तुलसी को एक बहुत ही पवित्र पौधा माना जाता है।लगभग हर घर में तुलसी का पौधा पाया जाता है और इसकी देवी की तरह पूजा की जाती है।धार्मिक महत्व के साथ ही इसका स्वास्थ के लिहाज़ से भी बहुत ही जायदा महत्व है।आयुर्वेद में तुलसी का उपयोग युगो युगो से होता आ रहा है और इसकी मदत से बहुत से दवाये बनाये जाते है। तुलसी में बहुत सारी aएंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती है और तुलसी हमारे शरीर के लिए एक एंटीबायोटिक तथा एंटीफंगल के साथ साथ एंटीबैक्टीरियल एजेन्ट का काम भी करती है।तो आइए जानते है तुलसी के फायदे।  


नींबू के फायदे जरूर जाने 




दस्त लगने पर

अगर आप दस्त से परेशान है तो तुलसी की कुछ पतियों को पिशकर उसमें शहद और जीरा पाउडर मिलाकर उसका सेवन करने से बहुत जल्द फायदा होता है। 

उल्टी होने पर  

अगर आपको उलटी हो रही है तो तुलसी के रस में अदरख का रस मिलाकर लेने से बहुत  जल्द  आराम  मिलेगा। 


बुखार  होने  पर 

अगर  आपको  बुखार  हो  गया है  चाहे  मलेरिया का है  या फिर  इनफेक्शन  का  है तुलसी  उसे  कम  करने  में  भी  सक्षम  है।  बुखार  होने  पर तुलसी के काढ़े  का  उपयोग  कीजिए।  काढ़ा बनाने के लिए आधा लीटर पानी लीजिए उसमे कुछ तुलसी की पतिया और इलाइची पाउडर डालकर उसे तब तक उबालिये जब तक वो आधा ना  हो जाए।  अब गुनगुना  होने पर इसका सेवन कीजिये बुखार जल्दी उतर जायेगा।

अस्थमा होने पर 

अगर आप अस्थमा के बीमारी से परेशान है तो तुलसी की पतियों को काले नमक के साथ खाये और इसे अच्छे से चबाये अस्थमा से जुडी सारी परेशानी कुछ ही दिन में ख़त्म हो जाएगी और इसके सेवन से आपको बेहतर लाभ मिलेगा। 

डायबिटीज़ होने पर 

अगर आपको डायबिटीज़ है तो आपके लिए तुलसी किसी रामवाण की तरह है इसके सेवन करने से आपके शरीर का केस्टरोल लेवल कण्ट्रोल रहता है जिससे आपका डायबिटीज़ कण्ट्रोल में रहता  है। 


सर्दी ज़ुकाम होने पर 

अगर आप सर्दी जुकाम  के साथ खांसी से परेशान है तो आप तुलसी के पत्ते को अदरख के साथ चबा लीजिये ,कुछ दिन के लगातार उपयोग से जरूर से लाभ मिलेगा। 


घाव होने पर 

घाव को जल्दी से भरने के लिए तुलसी के पत्ते के फिटकिरी को बारीक़ पीस कर घाव पर लगाने में घाव जल्द ही भर जाता है। 


गठिया होने पर 

गठिया दूर करने के लिए तुलसी के जड़ ,तुलसी के पत्ते और उसके बाजरी को बराबर मात्रा में लेकर पीस लीजिये और फिर गुड़ के साथ मिलाकर उसका सेवन कीजिये ,गठिया से जुडी समस्या धिरे धिरे समाप्त हो जाएगी। 


आमतौर पर तुलसी का सेवन सुबह के समय खली पेट ही करना चाहिए।  


निष्कर्ष

इस पोस्ट के माध्यम से Benefits of Tulsi & TULSI KE FAYDE IN HINDI  से सम्बंदित जानकारी दिया आशा करते है आपको इस पोस्ट से मिली जानकारी लाभप्रद होगी। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *