Invention of electricity in Hindi । what is electricity in Hindi

Invention Of Electricity In Hindi & What Is Electricity In Hindi-आज अगर बिना electricity का रहना हो तो शायद से ये संभव नहीं है ,लेकिन एक समय के लिए सोचने पर ही जंदगी अधूरी लग रही है।  

What Is Electricity In Hindi & invention of electricity in hindi
what is electricity In Hindi

ELECTRICITY MEANING IN HINDI

इलेक्ट्रिसिटी को हिंदी में बिजली कहते है । जिसको कुछ लोग विद्दुत भी कहते है ।

What is Electricity in hindi – Electric definition in hindi

बिजली हमारे चारों ओर है – हमारे सेल फोन, कंप्यूटर, रोशनी, पंखा , और एयर कंडीशनर जैसी पॉवरिंग तकनीक। हमारी आधुनिक दुनिया में इसके बिना जिंदगी  कठिन है।यह पूरी प्रकृति में काम करता है, बिजली की गड़गड़ाहट से लेकर आपके शरीर के अंदर के सिनैप्स तक। लेकिन वास्तव में बिजली क्या है? यह अपने आप में बहुत ही मुसकिल QUESTION है।  

Definition of electricity in hindi

Definition of electricity in hindi आज के समय जिस चीज़ के जरूरत मनुष्य को सबसे अधिक है वो है इलेक्ट्रिसिटी । बिना इसके मानव के जीवन में अँधेरा ही अँधेरा हो जायेगा । यह एक ऊर्जा का स्रोत्र होता है , जिसको न तो बनाया जा सकता है और न ही नष्ट किया जा सकता है । इसका केवल रूपांतरण एक रूप से दूसरे रूप में किया जाता है । ऊर्जा का रूपांतरण करने के लिए मशीन का प्रयोग किया जाता है ।

बिजली एक प्राकृतिक घटना है जो पूरे प्रकृति में होती है और यह कई अलग-अलग रूप लेती रहती  है।हम वर्तमान बिजली पर ध्यान केंद्रित करेंगे।

वह सामान जो हमारे इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स को शक्ति देता है। हमारा लक्ष्य यह समझना है कि तारों के माध्यम से बिजली के स्रोत से बिजली कैसे प्रवाहित होती है, एल ई डी की रोशनी, मोटरों की काम करने का तरीका,और हमारे संचार उपकरणों को बिजली देना।

विद्युत को संक्षेप में विद्युत आवेश के प्रवाह के रूप में परिभाषित किया गया है, लेकिन उस आसान से कथन के पीछे बहुत कुछ है। जैसे  यह कहां से आते हैं? हम उन्हें कैसे आगे बढ़ाएंगे? वे कहां चले जाते हैं? एक विद्युत आवेश यांत्रिक गति का कारण बनता है या चीजों को हल्का बनाता है।विद्युत शक्ति या आवेश का प्रवाह है। यह एक द्वितीयक ऊर्जा स्रोत है जो इसका मतलब है कि हम इसे ऊर्जा के अन्य स्रोतों, जैसे कोयला, प्राकृतिक गैस, के रूपांतरण से प्राप्त करते हैं।

तेल, परमाणु ऊर्जा और अन्य प्राकृतिक स्रोत, जिन्हें प्राथमिक स्रोत कहा जाता है।शक्ति के जिन स्रोतों का उपयोग हम बिजली बनाने के लिए करते हैं,वे नवीकरणीय या गैर-नवीकरणीय हो सकते हैं,लेकिन स्वयं में बिजली नवीकरणीय या गैर-नवीकरणीय नहीं होता है। विद्युत आवेश एक परमाणु से दूसरे पर कैसे जाता है, हमें इसके लिए आवश्यकता है परमाणुओं के बारे में कुछ जानकारी होना चाहिए । इलेक्ट्रिसिटी में मुख्य रूप से मोटर ट्रांसफार्मर जैसे उपकरणों का मुख्य रूप से महत्त्व होता है ।

what is electricity in hindi – electrical definition in hindi

what is electricity in hindi – इलेक्ट्रिसिटी को अगर समझा जाये तो ब्रह्मांड में हर चीज जो की परमाणुओं से मिलकर बनी होती है – हर तारा, हर पेड़, हर जानवर। मानव शरीर भी परमाणुओं से बना है। हवा और पानी भी परमाणुओं से बना हैं।परमाणु और भी छोटे कणों से बने होते हैं। परमाणु के केंद्र को नाभिक कहा जाता है। यह है प्रोटॉन और न्यूट्रॉन नामक कणों से बने होते हैं। प्रोटॉन और न्यूट्रॉन बहुत छोटे होते हैं, लेकिन इलेक्ट्रॉन और भी बहुत  छोटे होते हैं।

प्रोटोन,न्युट्रोन और ईलेक्ट्रोन ये एक परमाणु के ही एक भाग होते है । जिसमे प्रोटोन घनात्मक आवेश (Positive charge) इलेक्ट्रॉन ऋणात्मक आवेश (Negative charge)और न्युट्रोन पर किसी भी प्रकार का चार्ज नहीं होता है ।     
परमाणु के केन्द्र में प्रोटोन और न्यूट्रॉन होते है । जबकि इलेक्ट्रॉन परमाणु के ऑरबिट में चारो तरफ चक्कर लगाते है । उन चककर लगते इलेक्ट्रॉन्स में से कुछ इलेक्ट्रान को आसानी से अलग किया जा सकता है।
ये जो अलग किये गए इलेक्ट्रॉन्स होते है उन्ही को ही मुक्त इलेक्ट्रॉन्स भी कहा जाता है ।इन्ही मुक्त इलेक्ट्रॉन्स के कारण ही Conductor में विधुत धारा(Ampere)बहती है। जिसे ही इलेक्ट्रिसिटी कहते है ।

इलेक्ट्रॉनों को उनके गोले में एक विद्युत बल द्वारा आयोजित किया जाता है। एक परमाणु में  प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉन आकर्षित होते हैं एक दूसरे से । वे दोनों एक इलेक्ट्रिकल चार्ज लेते हैं। एक विद्युत आवेश कण के भीतर एक बल होता है।प्रोटान एक सकारात्मक चार्ज (+) और इलेक्ट्रॉनों में एक है ऋणात्मक आवेश (-) होता है। प्रोटॉन का धनात्मक आवेश इलेक्ट्रॉनों के ऋणात्मक आवेश के बराबर है। विपरीत शुल्क एक दूसरे को आकर्षित करते हैं। कब तक एक परमाणु संतुलन में होता है,जब तक उसमे प्रोटॉन और इलेक्ट्रॉनों की समान संख्या में होती है। उनमे न्यूट्रॉन को ले जाते हैं जिसका कोई शुल्क नहीं होता है ,और उनकी संख्या अलग-अलग हो सकती है।

एक परमाणु में प्रोटॉनों की संख्या निर्धारण करती है परमाणु या तत्व का ,यह एक तत्व या एक पदार्थ है। सभी परमाणु समान होते हैं (आवर्त सारणी सभी ज्ञात तत्वों को दर्शाता है),उदाहरण के लिए, हाइड्रोजन में एक प्रोटॉन और एक है इलेक्ट्रॉन, जिसमें कोई न्यूट्रॉन नहीं है।कार्बन के परमाणु में है छह प्रोटॉन, छह इलेक्ट्रॉन और छह न्यूट्रॉन होते है।प्रोटॉन की संख्या निर्धारित करती है कि यह कौन सा तत्व है।एक परमाणु का नाभिक ऋणात्मक आवेश (-) में सकारात्मक चार्ज (+) से घिरा हुआ होता है जिनको इलेक्ट्रॉन कहा जाता है।इलेक्ट्रॉन का ऋणात्मक आवेश (-)एक प्रोटोन के सकारात्मक चार्ज (+) के बराबर होता है।

हर एक परमाणु में इलेक्ट्रॉनों की संख्या आमतौर पर प्रोटॉन की संख्या के बराबर होती है।जब प्रोटोन और इलेक्ट्रॉन के बीच का संतुलन बल किसी भी एक बाहरी बल से  परेशान होता है तो वह एक परमाणु या तो एक इलेक्ट्रॉन प्राप्त कर सकता है या फिर एक इलेक्ट्रॉन खो सकता है. जब इलेक्ट्रॉन एक परमाणु से “खो” देता  हैं, तो इन इलेक्ट्रॉनों की मुक्त गति एक करंट का प्रवाह को पैदा करती है ,जिसे electricity कहा जाता है। 

Unit of electricity Electricity की इकाई क्या है ?

इसकी मूल इकाई किलोवाट घंटा होता है।जिसे हम (kWh) भी कहते हैं।आम बोलचाल की भाषा में कहें तो 1 घंटे में 1 kW (1000 वाट ) के गीजर द्वारा उपयोग की जाने वाली ऊर्जा की मात्रा 1 kWh होती है।   

 Type of Electricity- इलेक्ट्रिसिटी के प्रकार 

 Electricity के मुख्य रूप से दो प्रकार होते है। बिजली के दोनों प्रकार का निचे विस्तार से वर्णन किया गया है।

1-Static Electricity

2-Dynamic Electricity

What is Static Electricity?   

यह बिजली को एक जगह से दूसरे जगह नहीं ले जाया जा सकता है ।यह एक तरह की स्थिर ऊर्जा होती है। इस तरह के बिजली को इस्तेमाल में नहीं लाया जा सकता है । यह एक ऊर्जा होती है जो की दो तरह चीज़ो ले घर्षण से उत्प्पन्न होती है । उदाहरण के रूप में – बालो में कंगी करते वक्त उत्पन्न होने वाली एनर्जी & बादलो में चमक ने वाली बिजली भी स्टैटिक चार्ज से ही जनरेट होती है ।

What is Dynamic Electricity? 

Dynamic Electricity को ही गतिशील इलेक्ट्रिसिटी कहते है , ये वह ऊर्जा का रूप है जिस इलेक्ट्रिसिटी  को हम और आप अपने रोजिंदा जीवन (Daily Life) में इस्तेमाल करते है ।

Dynemic Electricity को हम एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाया जा सकता है ,जरुरत पड़ने पर हम कम और अधिक भी कर सकते है , इस काम के लिए जनरेशन पावर प्लांट होता है । घरो में इस्तेमाल होने वाली इलेक्ट्रिसिटी जो की पावर प्लांट में ही बनती है और ट्रांसमिशन केबल के माध्यम से हमारे घरो घरो तक आती है । उदाहरण के रूप में थर्मल पावर स्टेशन, कोयला, गैस, डीजल बेस, परमाणु ऊर्जा स्टेशन में उत्प्पन्न होने वाली एनर्जी ।

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको इलेक्ट्रिसिटी के रूप , इलेक्ट्रिसिटी के प्रकार के विषय में बताया । आशा करते है ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आएगा । और आपकी जानकारी बढ़ाने में मदद करेगा ।

 Read More On GyanTech

Invention Of BULB In Hindi । बल्ब का अविष्कार

How Many Types Of Motor In Hindi । मोटर कितने प्रकार की होती है

What Is CT PT Transformer In Hindi । CT और PT क्या है

What Is Motor Starter In Hindi । मोटर स्टार्टर क्या है

Types Of DC Motor In Hindi । डीसी मोटर हिंदी

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *