Republic day speech in Hindi 2022 गणतंत्र दिवस पर भाषण

Republic day speech in Hindi / गणतंत्र दिवस पर भाषण – 26 जनवरी को पूरा देश गणतंत्र दिवस मनाएगा।देश की राजधानी दिल्ली के राजपथ पर देश की सांस्कृतिक विविधता में एकता, अखंडता और सैन्य ताकत की झलक दिखाई देगी। गणतंत्र दिवस के अवसर पर विभिन्न स्कूलों, कॉलेज और सरकारी कार्यालयों में कार्यक्रम आयोजित होते हैं। ध्वाजारोहण के अलावा कई स्कूलों में निबंध लेखन और भाषण प्रतियोगिताएं भी होती हैं। 

अगर आप भी इस मौके पर स्पीच/भाषण  देने की विचार बना रहे हैं तो आप नीचे लिखी स्पीच की मदद ले सकते हैं। 

गणतंत्र दिवस पर भाषण (Republic day speech in Hindi in Year 2022)

Republic day speech in Hindi
Republic day speech in Hindi

आदरणीय मुख्य अतिथि और मेरे अध्यापकगण और मेरे साथियों… 

इस 26 जनवरी को भारत देश अपना 72 वां गणतंत्र दिवस मना रहा है । 26 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित किया जाता है।सबसे पहले मैं आपको बताना चाहता हूं कि गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है। दरअसल इस दिन ही हमारे देश को अपना संविधान मिला था।

26 जनवरी 1950 को सुबह 10 बजकर 18 मिनट पर भारत का संविधान लागू किया गया था। संविधान लागू होने के बाद ही हमारा देश भारत एक गणतंत्र देश बन गया। इसके 6 मिनट बाद  ही 10 बजकर 24 मिनट पर राजेंद्र प्रसाद ने भारत के पहले राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी। इस दिन ही पहली बार बतौर राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद बग्गी पर बैठकर राष्ट्रपति भवन से निकले थे।

यह संविधान ही है जो की भारत के सभी जाति और वर्ग के लोगों को एक दूसरे जोड़े रखता है। भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा लिखित संविधान है।जो की  2 साल, 11 महीने और 18 दिन के समय अन्तराल में यह तैयार हुआ था। 

संविधान को लागू करने के लिए 26 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया, क्योंकि 1930 में इसी दिन को कांग्रेस के अधिवेशन में भारत को पूर्ण स्वराज की घोषणा की गई थी।गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ पर भव्य गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन होता है। राष्ट्रपति तिरंगा झंडा फहराते हैं।

राष्ट्रगान और ध्वजारोहण के साथ उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाती है। अशोक चक्र और कीर्ति चक्र जैसे महत्वपूर्ण सम्मान दिए जाते हैं। राजपथ पर निकलने वाली झांकियों में भारत की विविधता में एकता की झलक दिखाई पड़ती है। परेड में भारत की तीनों सेना- नौ सेना, थल सेना और वायु सेना की टुकड़ी शामिल होती हैं और सेना की ताकत को दिखाते है ।  

ऐसा नहीं है कि 26 जनवरी को राष्ट्रपति द्वारा झंडा फहराने और परेड व झांकियों आदि के समापन के साथ ही यह राष्ट्रीय त्योहार खत्म हो जाता है। 29 जनवरी को ‘बीटिंग रिट्रीट’ सेरेमनी के साथ गणतंत्र दिवस उत्सव का समापन पर होता है।   

एक होकर प्रयास करने से श्रेष्ठ और विकसित भारत का निर्माण होगा।जो की इस देश के महान  स्वतंत्रता सेनानियों का एक सपना था। स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को याद करके उनको भावपूर्ण  नमन के साथ में अपने भाषण का समापन करना चाहूंगा। 

जय हिंद, जय भारत! के साथ गणतंत्र दिवस भाषण को समाप्त करें।

भारतीय संविधान से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • 02 भाषाओं हिंदी और इंग्लिश में संविधान की मूल प्रति प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ने लिखी  थी। 
  • 395 अनुच्छेद, 8 अनुसूचियां के साथ 22 भाग थे संविधान लागू होने के उस समय। 
  •  संविधान को बनाने वाली समिति में,कुल 15 महिला सदस्य थीं कुल सदस्यों की संख्या 284 थी।  जिन्होंने 24 नवंबर 1949 को संविधान पर दस्तखत किए थे।
  • 395 अनुच्छेद वाला हमारा पूरा संविधान को हाथ से लिखा गया था।
  • भारतीय संविधान की पांडुलिपि एक हजार से अधिक साल तक बचे रहने वाले सूक्ष्मजीवी रोधक चर्मपत्र पर लिखकर तैयार की गई है। पांडुलिपि में 234 पेज हैं जिनका वजन 13 किलोग्राम  है। 

Frequently Asked Question on Republic Day speech ( गणतंत्र दिवस पर भाषण )

 गणतंत्र दिवस कब मनाया जाता है?

प्रति वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है।

गणतंत्र दिवस क्यों मनाया जाता है?

6 जनवरी, 1950 को हमारे देश का संविधान लागू हुआ था,

Read More on Gyantech

1Ratan Tata Biography in hindi | ratan tata history in hindi
2पराग अग्रवाल का जीवन परिचय । Parag Agrawal Biography in Hindi
3biography of sundar pichai in hindi । sundar pichai biography in hindi
Follow us on Google News 

Leave a Comment

Kaju khane ke fayde in hindi Jeera khane ke fayde haldi wala dudh peene ke fayde