Vehicle scrappage policy 2021। नई व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी 2021

भारत के वित् मंत्री ने बजट २०२१ -२०२२ सदन में पेश किया। इसकी विषेशता ये था की ये पहला बजट जो की पेपर लेस्स था। उन्होंने मेक इन इंडिया के तहत देश में बने टेबलेट के माध्यम से बजट को पढ़ा। इस बजट में उन्होंने Vehicle scrappage policy की बात की। एक सर्वे के अनुसार भारत में कुल ऐसे ५५% व्हीकल  है जो की पुराने है। अब इस Vehicle scrappage policy  के लागु होने के बाद आपके पुराने गाड़ियों पर होने वाले असर ,के बारे में इस पोस्ट में बता रहा हु। 




क्या है नई व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी 

अगर आपके पास पुराना Vehicle  है। जो १५ साल से अधिक पुरानी है। तो उस गाड़ी का रेजिस्ट्रेसन को रद्द किया जायेगा।रेजिस्ट्रेसन को रद्द  होने के बाद आप उसे चला नहीं पाएंगे।उसके बाद भी अगर वो गाड़ी का इस्तेमाल करेंगे तो आप पर अनेक तरह के जुर्मना लगाया जा सकता है। अब हाल में ही स्क्रैप पॉलिसी कुछ बदलाव किया गया है। 



व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी से होने वाले लाभ 


अगर NEW Vehicle Scrappage Policy लागू की जाती है तो देश को अनेक तरह के लाभ होंगे जो  वर्णित है। 

  • इसका सबसे बड़ा लाभ प्रदुषण को कंट्रोल करने में मदद मिलेगी। 
  • सड़को पर प्रदूषण से मुक्त वाहन अधिक होंगे। 
  • पुराने कबाड़ वाली गाड़ियों में से 55% तक  स्टील निकाला जाएगा जिससे स्टील के उद्योग में स्टील का उत्पादन बढ़ेगा। 
  • नए गाड़ियों के मांग बढ़ने से ऑटोमोबाइल्स मार्किट में तेजी आएगी। 
  • इससे भारत एक बड़ा मैन्युफैक्चरिंग हब बनेगा। 

नितिन गडकरी जी जो की देश के परिवहन मंत्री है।उन्होंने स्क्रैपिंग पॉलिसी में हुए बदलावों का जिक्र करते हुए बताया कि अभी जो निजी वाहन जो  15 साल में स्क्रैप हो जाती थी। लेकिन अब यह नियम  बदलकर 20 साल कर दिया गया है। अगर आपके पास भी निजी वाहन है तो 20 साल तक आपके निजी  वाहन को स्क्रैप नहीं किया जाएगा। कमर्शियल वाहनों को 15 साल में ही स्क्रैप किया जाएगा। जिससे  व्यक्ति अपना वाहन बेचकर नया वाहन खरीद सकता है।Vehicle scrappage policy के माध्यम से उन्हें काफी छूट भी दिलाई जायेगी। उनके अनुसार पुराने कबाड़ में गए वाहन में से जरुरी सामान जिनका उपयोग दुबारा किया जा सकता है उन्हें निकाल लिया जायेगा। और वो निकाले गए सामान से नए गाड़िया बनाई जाएगी। अगर उत्पादन सस्ता होगा तो भविष्य में सस्ते वाहन के संभावना बढ़ेगी।गडकरी जी के अनुसार देश में विनिर्माण को बढ़ावा देना ही इस पॉलिसी का मकसद है।गडकरी जी ने बताया की पिछले पांच सालों से इस पॉलिसी में सुधार करने के विचार चल रहा था।लेकिन कुछ बाधाओं के कारण यह संभव नही हो पाया था।  



निष्कर्ष

इस पोस्ट में व्हीकल स्क्रैपिंग पॉलिसी के बारें में बताया है।अगर आपको इस पॉलिसी से संबधित कोई प्रश्न पूछना है।तो आप कमेंट बॉक्स में  कमेंट करके पूछ सकते हैं।अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करें। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *