What is CNG । CNG गैस का नाम

देश की सरकार के द्वारा भी लोगों को सीएनजी गैस का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।जिसके कारण आजकल इसका इस्तेमाल बहुत ज़्यदा होने लगा है।आज के समय में ज्यादा से ज्यादा लोग सीएनजी गैस का उपयोग कर रहे हैं।आज के समय में CNG गैस का वितरण भी बहुत तेजी से किया जा रहा है।CNG गैस का उपयोग गैस काफी हद तक पर्यावरण को हानि नहीं पहुंचाते है। आपने CNG गैस का नाम भी सुना होगा जैसा की मुझे लगता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि CNG FULL FORM क्या होती है।अगर नही तो आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको सीएनजी की फुल फॉर्म के विषय में जानकारी देंगे। 

Table of Contents

CNG FULL FORM

CNG FULL FORM  “Compressed Natural Gas” होता है। इसके कारण इसको सॉर्ट में CNG भी कहा जाता है।




यह एक ऐसी गैस होती है जो की हवा से बहुत अधिक हल्की होती है।CNG  गैस को ईंधन के लिए प्रयोग किये जाने वाले पदार्थों की तुलना में अधिक सुरक्षित माना गया है।यह गैस Petrol की तुलना में CO2, CO, NOx के रूप में बहुत कम प्रदूषण को फैलाती है।


CNG गैस का अविष्कार साल 1800 मे अमेरिका में हुआ था। इसका इस्तेमाल करके सबसे पहले CNG वाहन का आविष्कार अमेरिका में हुआ था।दूसरे विश्व युद्ध के बाद ही ,ये इटली और अन्य यूरोपीय देशों में भी CNG को प्राथमिक ईंधन के रूप में इसका किया जाने लगा।इस गैस को 20-25MPA के दाब पर ही इसे गोलाकार कंटेनरों में सुरक्षित इकठा किया जाता है।उसके बाद ही CNG गैस का वितरण किया जाता है।


QUALITY OF CNG 

CNG गैस गुण कुछ इस प्रकार के होते है जो की नीचे वर्णित है। 
  • Non-corrosive
  • Colourless
  • Odourless
  • 40% Lighter Than Air
  • High Ignition Temperature
  • Tasteless
  • Non-toxic


BENEFIT OF CNG 

CNG गैस KE इस्तेमाल से होने लाभ कुछ इस तरह है। 

पेट्रोल और डीजल से चलने वाले वाहनों की तुलना में CNG से चलने वाले वाहन के रख रखाव में बहुत ही कम लागत लगती है।

डीजल और पेट्रोल की तुलना में CNG गैस पर्यावरण को प्रदूषित नही करती है।

CNG गैस पेट्रोल और डीजल की तुलना में कम हानिकारक गैसों का उत्सर्जन करती है।

CNG गैस में सबसे ज्यादा मात्रा में मीथेन गैस पाई जाती है।जिस कारण से यह  रंगहीन, गंधहीन, विष रहित भी होती है।जिसके कारण इसके इस्तेमाल करने से प्रकृति यानि पर्यावरण को ज्यादा नुकसान भी नही होता है।

CNG गैस का प्रयोग अधिकतर बड़े वाहन के रूप में बस में किया जाता है। इसका प्रयोग कार, थ्री व्हीलर और टैक्सी आदि में भी किया जाता है।इसका उपयोग का प्रमुख कारण यह है कि पेट्रोल और डीजल से चलने वाले वाहन सीएनजी के मुकाबले अधिक प्रदूषण फैलाते है।अधिक प्रदूषण ना हो इस लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *