wHAT IS pLC IN HINDI । PLC FULL FORM & wORKING IN HINDI

what is PLC IN HINDI-आज इस पोस्ट के माध्यम से PLC के विषय  में जानेगे ,जैसे की WHAT IS PLC,TYPE OF PLC,PLC HISTORY & HOW TO WORK PLC / PLC FULL FORM IN HINDI & Plc MEANING IN HINDI इन सभी विषयो पर हिंदी में जानेगे  इस पोस्ट के माध्यम से ,कृपया करके पोस्ट को पूरा पढ़े और पूरी जानकारी प्राप्त करे। 

WHAT IS PLC IN HINDI

PLC एक तरह का डिजिटल कंप्यूटर ही है। आज के समय में पीएलसी  को काफी इस्तेमाल में लाया जा रहा है क्योकि इसके इस्तेमाल करने से समय  बचत होने के साथ साथ काम भी काफी तेज़ी से पूरा होता है। पीएलसी आकर  में बड़ा नहीं होता है। पीएलसी में इस्तेमाल होने वाले कॉम्पोनेन्ट भी छोटे होते है। 

WHAT IS PLC IN HINDI & PLC FULL FORM IN HINDI 

PLC FULL FORM IN HINDI / WHAT IS PLC IN HINDI
PLC FULL FORM IN HINDI & PLC In Hindi

PLC का FULL FORM जो की PROGRAMMABLE LOGIC CONTROLLER  होता है। PROGRAMMABLE LOGIC CONTROLLER को प्रोग्राम कण्ट्रोल करने वाला भी कहते  है। यह एक डिजिटल कंप्यूटर होता है। इसका इस्तेमाल इंडस्ट्री में आटोमेटिक एल्क्ट्रो मकेनिकल प्रोसेस को करने के लिए होता है ,जैसे की CONTROL OF MACHINERY ,LIGHT FIXTURE को बनाने के लिए होता है। 

पीएलसी के इस्तेमाल करके कार्य को तेज़ी से किया जाता है। तेज़ी से कार्य होने से समय की बचत होती है। इंडस्ट्री में पहले RELAY LOGIC CONTROL का इस्तेमाल किया जाता था। लेकिन जब से पीएलसी आया बाजार में ऑटोमेशन करने की प्रक्रिया को रफ्तार मिला। आज के समय  लगभग हर जगह पीएलसी का ही इस्तेमाल होता है। आज पीएलसी के कारण  इंडस्ट्रीज को समय की बचत के साथ ही काम भी तेज़ी से होते है। 

भारत में Siemens, Delta जैसी कम्पनी के पीएलसी का ज़्यदा इस्तेमाल होता है।  

How PLC is Work PLC in Hindi

पीएलसी जिसका फुल फॉर्म PROGRAMMABLE LOGIC CONTROLLER होता है।उसे काम करने के लिए PROGRAM की जरूरत होती है।पीएलसी में PROGRAM  Ladder Language में लिखा  जाता है।Computer के अंदर इस प्रोग्राम को लिख के केबल के माध्यम से पीएलसी में डाला जाता है। पीएलसी में एक मेमोरी जो की इनबिल्ट होती है ,जिसमे सारा प्रोग्राम सेव हो जाता है। 

पीएलसी के इस्तेमाल करने से सर्किट की संरचना बहुत ही असान हो जाती है। इसके इस्तेमाल करने से मशीन के खराब होने की भी सम्भावनाएं कम हो जाती है। पीएलसी के इस्तेमाल से बना हुआ सर्किट RLC के इस्तेमाल से बने सर्किट से बेहतर होते है।     

पीएलसी के अंदर पहले से मौजूद Electrical Timer ,NC, Counter No ,Contactor होते है।पीएलसी के अंदर इनपुट और आउटपुट ये दो तरह के Module होते है। जो की सीधे CPU से जुड़े होते है। पीएलसी का इनपुट डिवाइस इनपुट सिगनल Temperature Sensor ,Push Buttons ,Mouse ,Limit Switch से लेता है। इनपुट के निर्देश अनुसार आउटपुट सिंगनल किसी जुड़े हुए मशीन को देता है।         

Type OF PLC  PlC In Hindi

  • Compact PLC 

इस पीएलसी में इनपुट डिवाइस के फिक्स्ड सेट का ही इस्तेमाल किया जाता है।आप इसमें अलग से ना इनपुट और ना ही आउटपुट डिवाइस जोड़ सकते है।इस पीएलसी की क्षमताओं का निर्धारण उपयोगकर्ता के अनुसार नहीं होता बल्कि मैनुफेक्चर ही निर्धारित करते है। 

  • Modular PLC

इस पीएलसी को कई घटक के साथ बनाया जाता है। जिसमे एक रैक में समान क्षमताओं वाले इनपुट डिवाइस को एक साथ प्लग इन किया जाता है।इस Modular PLC को ३ भाग में बाटा जाता है।जो की उनके प्रोग्राम मेमोरी ,और उनके खूबियों के अनुसार होता है।   

  • Medium Size PLC
  • Large Size PLC
  • Small Size PLC
  • Rack PLC 

PLC के अंदर दो module लगे होते है।

  1. Input Module (इनपुट मॉड्यूल)
  2. Output Module (आउटपुट मॉड्यूल)

यह दोनो मॉडल ही plc के मुख्य भाग होते है। इनपुट मॉड्यूल का काम plc को सूचना देना होता है। आउटपुट मॉड्यूल उस काम को कर के रिजल्ट दिखता है ।

पीएलसी और आरलसी सर्किट में अंतर DIFFERENCE BETWEEN PLC AND RLC

इन दोनो ही सर्किट का उपयोग किसी भी कम्पनी में सबसे ज्यादा किया जाता है। पर ऐसा क्या कारण है की आजकल सभी कंपनी धीरे धीरे plc सिस्टम को अपना रही है। rLC को बदल करके ।

इसे आप काफी आसान भाषा में समझ सकते है।

सबसे पहले आपको मालूम होना चाहिए की RLC सर्किट के अंदर मशीन को ऑटोमैटिक AUTOMATION करने के लिए हमे कई सारे relay और timer की जरूरत होती है। बिना इनके हम इन्हे ऑटोमेशन में नहीं इस्तेमाल कर सकते है । लेकिन अगर जब हम plc की मदद से किसी भी मशीन को ऑटोमैटिक करते है, तो हमे रिले और टाइमर की जरूरत नहीं पड़ती है ।

Benefits of Programmable Logic Controller

पीएलसी उपयोग करने के फायदे:

1.PLC को शुरुवात में लगाते समय हमे इसकी शुरुवाती कीमत कुछ ज्यादा ही देना होता है, लेकिन जब हम इससे मिलने वाले फायदे को देखते है तो हमें ये बात समझ आती है की जो कीमत हमने दी थी इसको लगाने के लिए वो कीमत अपने आप कम हो जाती है।

2.पीएलसी PLC जिसके अंदर किसी भी सर्किट को डिज़ाइन करना काफी आसान होता है, PLC के अंदर हम किसी भी बड़े से बड़े सर्किट को भी आसानी से बना सकते है।

3.अगर हमे आने वाले समय को देखते हुए भविष्य में भी हमारे इलेक्ट्रिकल सर्किट में कुछ बदलाव करने होते है तो वह plc सर्किट के अंदर काफी सुविधा से हो जाते है, लेकिन RLC सर्किट में ऐसा कर पाना बहुत ही ज्यादा मुश्किल है।

4.Plc के उपयोग होने से मशीन के अंदर किसी भी इलेक्ट्रिकल फॉल्ट को ढूढ़ना काफी आसान हो जाता है। इसके मदद से मशीन का ब्रेकडाउन समय काफी कम हो जाता है। जिससे की काम पर जयदा प्रभाव नहीं पड़ता है ।

5.PLC के इस्तेमाल करने से हमारे कई सारे इलेक्ट्रिकल कंपोनेंट के खर्च में काफी कमी आता है , इलेक्ट्रिकल कम्पोनेट में जैसे की हमारे टाइमर, रिले, ऐड ऑन ब्लॉक आदि हमे नही खरीदने पड़ते है।

6.RLC सर्किट में कई सारे समस्या जैसे की वाइब्रेशन जो की कुछ समय उपयोग के बाद आने लग जाते है। क्योंकि RLC में सारी कंट्रोलिंग वायर के माध्यम से ही होता है। लेकिन जब हम plc का इस्तेमाल करते है तो हमे यह समस्या देखने को नही मिलता है ।

इस तरह के पीएलसी में हजारो की संख्या में इनपुट और आउटपुट डिवाइस को सपोर्ट करने की क्षमता होती है।

 इस पोस्ट  के माध्यम से  PLC FULL INFORMATION  & WHAT IS MEANING OF PLC  के बारे में बताया ,आशा करता हु इस पोस्ट  माध्यम से मिली जानकारी आपके लिए लाभप्रद होगी। 

rEAD mORE oN gYANTECH


Volte Kya Hai । Voice Over LTE In Hindi

SIM Full Form In Hindi । SIMCARD KA FULL FORM

WIFI Calling In Hindi । WIFI Calling क्या होती है

Meaning Of LTE In HINDI । 4G LTE IN HINDI

 Invention Of Electricity In Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *